Monday , 22 July 2019

परमाणु क्रमांक

परमाणु क्रमांक ( Atomic Number )

किसी परमाणु के नाभिक की धनात्मक आवेश संख्या को उसका परमाणु क्रमांक कहते हैं ।

परमाणु क्रमांक N = प्रोटानों की संख्या = इलेक्ट्रॉनों की संख्या ( अन्दर स्थित ) ( बाहर स्थित )

उदाहरण

हाइड्रोजन का परमाणु क्र. एक है इसलिए इसके नाभिक के अन्दर एक प्रोटॉन होना चाहिए । इसी प्रकार सोडियम का परमाणु क्र. 11 है क्योंकि इसके नाभिक का धन आवेश संख्या 11 है ।

इलेक्ट्रॉन कक्ष क्या है ?

परमाणु क्र. परमाणु का एक मूल गुण हैं क्योंकि यह विशिष्ट रूप से बताता है कि अमुक परमाणु किस तत्त्व का है । नाभिक के अन्दर केवल दो प्रकार के मुख्य कण पाए जाते हैं ।

( i ) न्यूट्रॉन
( ii ) प्रोटॉन चूंकि न्यूट्रॉन विद्युत उदासीन कण हैं और प्रत्येक प्रोटॉन पर इकाई धन आवेश होता है इसलिए नाभिक पर धनवेशों की कुल संख्या उसमें पाए जाने वाले प्रोटॉनों के बराबर होती है ।

Check Also

जल के गुण

जल एक रसायनिक पदार्थ है जिसका रसायनिक सूत्र H2O है: जल के एक अणु में दो हाइड्रोजन के परमाणु सहसंयोजक बंध के द्वारा एक ऑक्सीजन के …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *