Tuesday , 16 July 2019
Home / सामान्य ज्ञान / इतिहास / मध्य भारत , उत्तर भारत और दक्कन

मध्य भारत , उत्तर भारत और दक्कन

मध्य भारत , उत्तर भारत और दक्कन : तीन साम्राज्यों का युग ( 8वीं से 10वीं सदी तक ) Central India , Northern India & Deccan Age of Three Empires )

सातवीं सदी में हर्ष के साम्राज्य के पतन के बाद उत्तर भारत , के बाद उत्तर भारत , दक्कन और दक्षिण भारत में अनेक साम्राज्य उत्पन्न हए । इसमें पाल , प्रतिहार एवं राष्ट्रकूट प्रमुख थे ।

पाल साम्राज्य ( Pala Empire )

  1. पाल साम्राज्य की स्थापना 750 ई . में गोपाल के द्वारा हुई थी ।
  2. धर्मपाल के शासनकाल में कन्नौज पर नियंत्रण के लिए पाल , प्रतिहार एवं राष्ट्रकूटों में त्रिपक्षीय संघर्ष हुआ जिसमें धर्मपाल विजयी हुआ ।
  3. धर्मपाल ने नालंदा विश्वविद्यालय का पुनरुत्थान किया और विक्रमशिला विश्वविद्यालय की स्थापना की जहाँ वज्रयान शाखा की पढ़ाई कराई जाती थी ।

पुष्यभूति या वर्धन राजवंश

प्रतिहार ( Pratiharas )

  1. इस वंश की स्थापना हरीशचंद्र ने की थी ।
  2. नागभट्ट प्रथम ( 730 – 756 ई . ) – यह गुर्जर प्रतिहार वंश का वास्तविक संस्थापक था ।
  3. इस वश का उसके दरबार में राजशेखर निवास करते थे जो उसके राजगुरु भी थे । राजशेखर की रचनाएँ – कर्पूरमंजरी , काव्यमीमांसा , हरविलास , भुवनकोश , बाल रामायण
  4. इस वंश का अंतिम शासक यशपाल था ।

राष्ट्रकूट ( Rashtrakutas )

  1. राष्ट्रकूट वंश का संस्थापक दंतिदुर्ग था जिसने शोलापुर के पास मान्यखेत या मलखेड़ को अपनी राजधानी बनाया।

Check Also

जल के गुण

जल एक रसायनिक पदार्थ है जिसका रसायनिक सूत्र H2O है: जल के एक अणु में दो हाइड्रोजन के परमाणु सहसंयोजक बंध के द्वारा एक ऑक्सीजन के …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *