Tuesday , 16 July 2019
Home / सामान्य ज्ञान / इतिहास / समुद्रगुप्त का धर्म

समुद्रगुप्त का धर्म

समुद्रगुप्त का धर्म ( Riligion of Samudra Gupta )

हिन्दू धर्म ( Hindu Religion )

समुद्रगुप्त के सिक्के उसके धर्म के सम्बन्ध में प्रकाश डालते हैं , जिनसे वह हिन्दू धर्म को मानने वाला प्रमाणित होता । वह विष्णु का पुजारी था क्योंकि उसने अश्वमेध यज्ञ किया था और ब्राह्मणों को बहुत दान दिया था ; इसलिए यह प्रमाणित होता है कि वह वैदिक धर्म का पुजारी था , उसने हिन्दू धर्म की पवित्र भाषा संस्कृत को अपनाया और उसके साहित्यिक विकास के लिए प्रत्येक सम्भव यत्न किया ।

जानिये समुद्रगुप्त और उसकी राजनीतिक दशा के बारे में

धार्मिक सहनशीलता ( Religious Toleration )

समुद्रगुप्त के हिन्दू धर्म के अनुयायी होने का अभिप्राय यह नहीं है कि वह अन्य धर्मों पर अत्याचार करता था । वह धर्म के पक्ष में बहुत सहनशक्ति रखता था । उसने लंका के सम्राट् को बौद्ध गया में मठ बनाने की प्रज्ञा दे दी थी और उसके अपने दरबार में असंग और वसुबन्धु दो बौद्ध विद्वान् रहते थे । धर्म के सम्बन्ध में वह किसी पर अत्याचार नहीं करता था । सबके लिए उसके मन में प्यार था ।

Check Also

जल के गुण

जल एक रसायनिक पदार्थ है जिसका रसायनिक सूत्र H2O है: जल के एक अणु में दो हाइड्रोजन के परमाणु सहसंयोजक बंध के द्वारा एक ऑक्सीजन के …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *