Monday , 22 July 2019
Home / सामान्य ज्ञान / इतिहास / वैदिक साहित्य

वैदिक साहित्य

वैदिक साहित्य (Vedic Literature)

वैदिक साहित्य

वेद शब्द ‘ विद ‘ से बना है , जिसका अर्थ ज्ञान अथवा बुद्धिमत्ता से होता है । इन्हें ” श्रुति ‘ भी कहा जाता है । वेद 04 प्राकर के हैं
( i ) ऋग्वेद , ( ii ) सामवेद , ( iii ) यजुर्वेद तथा ( iv ) अथर्ववेद । ।
ऋग्वेद , सामवेद तथा यजुर्वेद को “ वेदात्रयी ‘ कहते हैं ।

वेद या मंत्र संग्रह ( Vedas or Collection of Hymns )

वेदों के संकलनकर्ता महर्षि कृष्ण द्वैपायन वेद व्यास हैं ।

  • ऋग्वेद – यह प्राचीनतम वेद है तथा इसमें 1028 सूक्त तथा 10 मंडल हैं । दसवें मंडल में ही पुरुष सूक्त है जिसमें चारों वर्षों ( ब्राह्मण , क्षत्रिय , वैश्य , शूद्र ) का उल्लेख है ।
  • सामवेद – इसमें 1549 ऋचायें हैं । इसका सम्बन्ध संगीत से है इसके पुरोहित “ उद्गाता ‘ कहलाते हैं ।
  • यजुर्वेद – इसका सम्बन्ध यज्ञों से है । इसके दो माग हैं – कृष्ण यजुर्वेद तथा शुक्ल यजुर्वेद । इसके पुरोहित ‘ अध्वर्यु ‘ कहलाते हैं ।
  • अथर्ववेद – यह जादू – टोना तंत्र – मंत्र से सम्बन्धित है ।

संगमयुगीन राज्य

ब्राह्मण ( Brahmins )

ये गद्य में रची गई टिप्पणियाँ हैं , जो संहिता के मंत्रों की उत्पत्ति और अर्थ स्पष्ट करती हैं । ये निम्न हैं –
ऋग्वेद – ऐतरेय तथा कौशीतकी
सामवेद – पंचविश षड़विश , जैमिनीय तथा छांदोग्य
यजुर्वेद – शतपथ तथा तैत्तीरीय
अथर्ववेद – गोपथ

आरण्यक ( Aranyaks )
हर ब्राह्मण का दार्शनिक भाग , जंगलों में रहने वाले तपस्वियों के मार्गदर्शन हेतु संगृहीत है ।

उपनिषद् या वेदांत ( Upnishads & Vedanta )
हर ब्राह्मण के अन्त में यह प्रस्तुत है । यह आर्यों के प्राचीन ग्रंथों में निहित आध्यात्मिक सिद्धान्तों का निचोड़ है । लगभग 108 उपनिषद् उपलब्ध हैं जिसमें मुख्य है – ऐतरेय , तैत्तिरीय , छांदोग्य , कोशीतकी , वृहदारण्य आदि ।

अन्य साहित्य ( Other Literatures )
(1.) वेदांग – वेदांग छ : है – शिक्षा , कल्प , व्याकरण , निरुक्त , छंद तथा । ज्योतिष । इसमें सर्वाधिक महत्त्वपूर्ण कल्पसूत्र है जो ‘ आर्यों के गृहस्थ जीवन से सम्बन्धित है ।
(2.) उपवेद
( a ) ऋग्वेद – आयुर्वेद ( चिकित्साशास्त्र से सम्बन्धित )
( b ) यजुर्वेद – धनुर्वेद ( युद्ध कला से सम्बन्धित )
( c ) सामवेद – गांधर्ववेद ( कला एवं संगीत से सम्बन्धित )
( d ) अथर्ववेद – शिल्पवेद ( भवन निर्माण कला से सम्बन्धित )

हिन्दुओं के छ : विख्यात दार्शनिक सम्प्रदाय भी वैदिक साहित्य में आते हैं । ये छः प्रणालियाँ निम्नलिखित हैं-

Check Also

जल के गुण

जल एक रसायनिक पदार्थ है जिसका रसायनिक सूत्र H2O है: जल के एक अणु में दो हाइड्रोजन के परमाणु सहसंयोजक बंध के द्वारा एक ऑक्सीजन के …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *