Thursday , 23 May 2019
Breaking News
Home / सामान्य ज्ञान / इतिहास / मौर्य साम्राज्य

मौर्य साम्राज्य

मौर्य साम्राज्य (322-184 ई. पू.) (Mauryan Empire)

मौर्य साम्राज्य

25 वर्ष की अवस्था में चन्द्रगुप्त मौर्य तथा विष्णुगुप्त ने अपनी योग्यता तथा कूटनीति से अन्तिम नन्द शासक धनानंद के विशाल साम्राज्य को ध्वस्त करके मौर्य वंश की आधारशिला रखी ।

मौर्योत्तर काल

  1. चन्द्रगुप्त मौर्य ( 321 – 297 ई . पू . ) – 305 ई . पू . में सीरिया के यूनानी शासक सेल्यूकस को पराजित किया तथा उसने सेल्यूकस की पुत्री हेलेन से विवाह किया । मेगस्थनीज ने मार्य प्रशासन पर ‘ इण्डिका ‘ नामक पुस्तक लिखी । चन्द्रगुप्त ने भद्रबाहु से जैन धर्म की दीक्षा ली तथा 298 ई. पू. उसकी मृत्यु हो गई ।
  2. विन्दुसार ( 297 – 272 ई . पू . ) – यह चन्द्रगुप्त मौर्य का उत्तराधिकारी पुत्र था । उसे ‘ अमित्रघात ‘ भी कहा जाता है ।
  3. अशोक ( 273 – 232 ई . पू . ) – अशोक ने अपने 99 भाइयों की हत्या कर राजगद्दी प्राप्त की । अपने शासनकाल के चार वर्षों बाद 269 ई . पू . में राज्याभिषेक कराया । उसने 261 ई . पू . में कलिंग पर विजय प्राप्त की , परन्तु भयानक रक्तपात व नरसंहार देखकर वह द्रवित हो उठा जिसके फलस्वरूप उसने उपगुप्त से शिक्षा प्राप्त कर बौद्ध धर्म स्वीकार कर लिया । अशोक को ‘ देवनाम पियदर्शी ‘ के नाम से भी जाना जाता है ।

Check Also

जल के गुण

जल एक रसायनिक पदार्थ है जिसका रसायनिक सूत्र H2O है: जल के एक अणु में दो हाइड्रोजन के परमाणु सहसंयोजक बंध के द्वारा एक ऑक्सीजन के …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *