Monday , 20 May 2019
Breaking News
Home / सामान्य ज्ञान / इतिहास / बाबर के भारत आक्रमण से पहले राजनीतिक स्थिति

बाबर के भारत आक्रमण से पहले राजनीतिक स्थिति

सोलहवीं शताब्दी के आरम्भ में जब मुग़ल नेता बाबर ने आक्रमण किया तब भारतवर्ष की राजनीतिक अवस्था ग्यारहवीं शताब्दी के भारत जैसे ही थी. जिसमें मुसलमानों ने भारत पर जोरदार आक्रमण करके इस ‘ सोने की चिड़िया ‘ को अपने पिंजरे में बन्द किया था. अन्तर केवल इतना था कि उस समय भारत छोटे – छोटे हिन्दू राजाओं का समूह था जबकि 16वीं शताब्दी यहां कुछ हिन्दू राजा थे और अन्य मुसलमान. यह परस्पर लड़ते – झगड़ते रहते थे. कहने का भाव यह है कि भारत की राजनीतिक दशा बड़ी शोचनीय थी. बाबर के आक्रमण के समय ( 16वीं शती ) की राजनीतिक दशा का वर्णन इस प्रकार है :

राजनीतिक स्थिति ( Political Condition )

बाबर के आक्रमण के समय उत्तरी भारत की दशा

बाबर के आक्रमण के समय भारत की राजनीतिक दशा बहुत ही बिगड़ चुकी थी । दिल्ली का लोधी साम्राज्य पर्याप्त दुर्बल हो चुका था, इसलिए सारा भारत छोटे – छोटे राज्यों में बंटा हुआ था । कोई भी केन्द्रीय शक्ति ऐसी नहीं थी जो राज्यों को इकट्ठा कर सकती । ये राज्य आपस में लड़ते रहते थे , इसीलिए विदेशी शत्रु के मुकाबले के लिए भारत में कोई भी शक्ति नहीं थी । सोलहवीं शताब्दी के आरम्भ में , भारत छोटे – छोटे स्वतन्त्र राज्यों के समूह के समान था जो किसी भी शक्तिशाली तथा दृढ़ – निश्चयी शासक का सरलता से शिकार बन सकता था ।

Check Also

जल के गुण

जल एक रसायनिक पदार्थ है जिसका रसायनिक सूत्र H2O है: जल के एक अणु में दो हाइड्रोजन के परमाणु सहसंयोजक बंध के द्वारा एक ऑक्सीजन के …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *