Tuesday , 21 May 2019
Breaking News
Home / सामान्य ज्ञान / इतिहास / शेरशाह सूरी का प्रारंभिक जीवन

शेरशाह सूरी का प्रारंभिक जीवन

शेरशाह सूरी का प्रारम्भिक जीवन ( Early Life Of Shershah Suri )

सूर कौन थे ? ( Who were Sur ? ) — इससे पूर्व कि शेरशाह सूरी का प्रारम्भिक जीवन दिया जाए यह जान लेना आवश्यक है कि सूर कौन थे ? सूर राजस्थान में रहने वाले एक कबीले का नाम था । ये स्वयं को मुहम्मद गौरी के वंश से सम्बन्धित बताते हैं । शेरशाह के बुजुर्ग इस कबीले के थे इसलिए शेरशाह ने दिल्ली में जब नये राजवंश की नींव रखी तो वह ‘ सूर वंश ‘ ( Sur Dynasty ) के नाम से प्रसिद्ध हुआ ।

प्रारम्भिक जीवन ( Early Life of Shershah Suri )

शेरशाह का बचपन का नाम फरीद खां ( Farid Khan ) था । उसका जन्म 1472 ई० में पंजाब में होशियारपुर के निकट बजवाड़ा के स्थान पर हुआ था । उसका पिता हसन खां ( Hassan Khan ) बिहार की जागीर सहसराम ( Sahasram ) का जागीरदार था । फरीद खां के पूर्वज बहलोल लोधी के समय अफ़गानिस्तान छोड़कर नौकरी के लिए भारत आए थे । हसन बाद में जौनपुर चला गया , जहां नवाब जलाल खां ने उसे नौकरी पर रख लिया । उसी ने सुलतान लोधी से बिहार में सहसराम ख्वासपुर और टांडा की जागीर दिलवाई थी ।

Check Also

जल के गुण

जल एक रसायनिक पदार्थ है जिसका रसायनिक सूत्र H2O है: जल के एक अणु में दो हाइड्रोजन के परमाणु सहसंयोजक बंध के द्वारा एक ऑक्सीजन के …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *