Thursday , 23 May 2019
Breaking News
Home / सामान्य ज्ञान / इतिहास / बाबर की पानीपत में सफलता के कारण

बाबर की पानीपत में सफलता के कारण

बाबर की सफलता के कारण ( Causes of Babur ‘ s Success )

पानीपत की पहली लड़ाई

यद्यपि बावर के पास इब्राहीम के मुकाबले में बहुत ही कम सेना थी परन्तु फिर भी बाबर की विजय हुई । उसके कई कारण थे :

  1. बाबर एक योग्य सेनापति था । लगातार 25 वर्ष तक युद्ध करते रहने के कारण उसे बहुत अनुभव हो गया था और वह बड़ी कठिन स्थिति में भी धैर्य नहीं गंवाता था । उसके मुकाबले में इब्राहीम अभिमानी और अनुभवहीन सेनापति था ।
  2. इब्राहीम के सरदार ही उसके विरोधी थे । उसका चाचा आलम खां और पंजाब का शासक दौलत खां बाबर से जा मिले थे । उसके शंकालु स्वभाव ने राज्य को बहुत दुर्बल बना दिया था । वह तो किसी मामूली दुश्मन का भी मुकाबला नहीं कर सकता था । जनता उसके पक्ष में नहीं थी ।
  3. इब्राहीम की पराजय और बाबर की जीत का यह भी कारण था कि इब्राहीम के सिपाही शीघ्रता में भर्ती किए हुए थे और वे लड़ाई के ढंगों से अनभिज्ञ थे । तभी तो बाबर ने कहा था कि भारतीय सिपाही मरना तो जानता है , पर लड़ना नहीं जानता । दूसरी ओर बाबर के सिपाही अपने राजा के लिए मरने के लिए तैयार और लड़ाई के पूरी तरह ढंगों से भिज्ञ थे ।
  4. भारत के प्रमुख राजाओं , जैसे मेवाड़ के राणा सांगा और बंगाल के नुसरत शाह आदि ने इब्राहीम का साथ न दिया ।
  5. बाबर की विजय का मुख्य कारण उसका युद्ध लड़ने का नया ढंग था । उसकी युद्ध योजना ने इब्राहीम के सिपाहियों को चकरा दिया । एक तो तोपखाने और गोली का प्रयोग तथा दूसरा तुल्गामा ढंग बाबर की विशेषताएं थीं । इन कारणों से वह अपनी छोटी सी सेना से इब्राहीम को परास्त कर सका था ।
  6. प्रो. एस. आर. शर्मा ( Prof . S . R . Sharma ) ने बाबर की जीत का एक और कारण भी बताया है । उसने लिखा है कि 13 अप्रैल से 20 अप्रैल 1526 तक जो एक सप्ताह लड़ाई से पूर्व बाबर को मिल गया , यही उसकी जीत का कारण था । वह इसलिए कि बाबर के सिपाही इब्राहीम की फौज की भारी संख्या देखकर घबरा गए थे । अगर इब्राहीम उस समय आक्रमण कर देता तो शायद बाबर के सिपाही डर कर भाग जाते , परन्तु बाबर को एक सप्ताह मिल गया । उस समय में बाबर ने अपने सिपाहियों में फिर से उत्साह पैदा कर दिया ।

Check Also

जल के गुण

जल एक रसायनिक पदार्थ है जिसका रसायनिक सूत्र H2O है: जल के एक अणु में दो हाइड्रोजन के परमाणु सहसंयोजक बंध के द्वारा एक ऑक्सीजन के …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *