Tuesday , 16 July 2019

बाबर

बाबर

बाबर

14 फ़रवरी, 1483 ई. को फ़रग़ना में ‘ ज़हीरुद्दीन मुहम्मद बाबर ‘ का जन्म हुआ। बाबर अपने पिता की ओर से तैमूर का पाँचवा एवं माता की ओर से चंगेज़ ख़ाँ (मंगोल नेता) का चौदहवाँ वंशज था। उसका परिवार तुर्की जाति के ‘चग़ताई वंश’ के अन्तर्गत आता था। बाबर अपने पिता ‘उमर शेख़ मिर्ज़ा’ की मृत्यु के बाद 11 वर्ष की आयु में शासक बना।

बाबर ने अपना राज्याभिषेक अपनी दादी ‘ ऐसान दौलत बेगम ’ के सहयोग से करवाया। बाबर ने अपने फ़रग़ना के शासन काल में 1501 ई. में समरकन्द पर अधिकार किया, जो मात्र आठ महीने तक ही उसके क़ब्ज़े में रहा। 1504 ई. में क़ाबुल विजय के उपरांत बाबर ने अपने पूर्वजों द्वारा धारण की गई उपाधि ‘मिर्ज़ा’ का त्याग कर नई उपाधि ‘पादशाह’ धारण की।

मुगल वंश

बाबर द्वारा लड़े गए प्रमुख युद्ध ( Battles Fought by Babur)
  • पानीपत का प्रथम युद्ध ( 21 अप्रैल , 1526 ई . ) : यह युद्ध बाबर एवं इब्राहिम लोदी के बीच हुआ था । बाबर विजयी रहा ।
  • खानवा का युद्ध ( 16 मार्च , 1527 ई . ) : इस युद्ध में बाबर ने मेवाड़ के शासक राणा सांगा को हराया । युद्ध जीतने के बाद बाबर ‘ गाजी ‘ की उपाधि प्राप्त की ।
  • चन्देरी का युद्ध ( 29 जनवरी , 1528 ई . ) : यह युद्ध बाबर और मेदिनीराय के मध्य हुआ जिसमें मेदिनीराय मारा गया । उसने इस युद्ध में जेहाद का नारा दिया ।
  • घाघरा का युद्ध ( 6 अप्रैल , 1529 ई . ) : इस युद्ध में बाबर ने घाघरा के तट ( बिहार ) पर अफगानों को हराया ।
  • बाबर ने पद्य में एक नवीन शैली में मुबइयान को लिखा जो मुस्लिम कानून की पुस्तक है ।
  • बाबर की आत्मकथा ‘ तुजुक – ए – बाबरी ‘ तुर्की भाषा में थी जिसे अकबर ने अब्दुर्रहीम खानेखाना के द्वारा फारसी भाषा में रूपान्तरण कराया था ।
  • 26 दिसम्बर , 1530 ई . को बाबर की मृत्यु आगरा में हुई । पहले उसे आगरा के आरामबाग में , किन्तु बाद में उसे काबुल में बाग – बाबर में दफना दिया गया ।

Check Also

जल के गुण

जल एक रसायनिक पदार्थ है जिसका रसायनिक सूत्र H2O है: जल के एक अणु में दो हाइड्रोजन के परमाणु सहसंयोजक बंध के द्वारा एक ऑक्सीजन के …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *