Wednesday , 24 July 2019

तुगलक वंश

तुगलक वंश [ 1320 – 1444 ] ई. (Tughlaq Dynasty)

तुगलक वंश

गियासुद्दीन तुगलक [ 1320 – 1325 ] ई . ( Ghiyasuddin Tughlaq )

  • गियासुद्दीन तुगलक ने तुगलक वंश की स्थापना की थी ।
  • उसने सिंचाई व्यवस्था दुरुस्त करवाई और नहरों का निर्माण करवाया ।
  • उसने तुगलकाबाद नामक एक शहर की स्थापना की थी ।
  • चिश्ती संत निजामुद्दीन औलिया के साथ उसके सम्बन्ध कटुतापूर्ण थे ।

मोहम्मद बिन तुगलक [ 1325 – 1351 ] ई . ( Mohammad Bin Tughlaq )

  • मोहम्मद बिन तुगलक का मूल नाम जूनाखाँ था ।
  • उसके शासनकाल में 1333 ई . में मोरक्को का यात्री इब्नबतूता भारत आया था ।
  • मोहम्मद बिन तुगलक सल्तनतकालीन सभी सुल्तानों में सर्वाधिक विद्वान था । वह खगोलशास्त्र , दर्शन , गणित , चिकित्सा विज्ञान तर्कशास्त्र आदि में दक्ष था ।
  • सुल्तान का सबसे विवादास्पद निर्णय राजधानी परिवर्तन का था जिसके तहत राजधानी को दिल्ली से देवगिरि ( दौलताबाद ) स्थानान्तरित किया ।
  • सुल्तान की दूसरी परियोजना थी प्रतीक मुद्रा का प्रचलन ।
  • एक विद्रोह के दमन के दौरान , थट्टा ( सिंध ) में मोहम्मद बिन तुगलक बीमार हो गया और 20 मार्च , 1351 ई . को उसकी मृत्यु हो गई ।

खिलजी वंश

फिरोजशाह तुगलक [ 1351 – 1388 ] ई . ( Firozshah Tughlaq )

  • फिरोजशाह ने ही मोहम्मद बिन तुगलक ( जूना खाँ ) की याद में जौनपुर नगर की स्थापना की ।
  • फिरोज ने ताश घड़ियाल एवं एक जलघड़ी का निर्माण कराया था ।
  • उसने अशोक के दो स्तम्भों को दिल्ली मँगाया । इनमें से एक मेरठ और दूसरा टोपरा ( पंजाब ) से लाया गया था ।
  • फिरोज ने कुतुबमीनार की चौथी मंजिल के स्थान पर दो और मंजिलों का निर्माण कराया । इस प्रकार कुतुबमीनार अब पाँच मंजिला बन गई है ।
  • उसने दीवान – ए – खैरात विभाग स्थापित किया जो मुसलमान अनाथ स्त्रियों एवं विधवाओं को आर्थिक सहायता देता था ।
  • उसने दिल्ली के निकट एक खैराती अस्पताल दार – उल – शफा स्थापित किया ।
  • फिरोज ने दीवान – ए – इस्तिहाक की स्थापना की जो मृत सैनिकों के आश्रितों को मदद देने से सम्बन्धित था । ।
  • उसने गुलामों के लिए पृथक् विभाग दीवान – ए – बदगान बनाया ।

Check Also

जल के गुण

जल एक रसायनिक पदार्थ है जिसका रसायनिक सूत्र H2O है: जल के एक अणु में दो हाइड्रोजन के परमाणु सहसंयोजक बंध के द्वारा एक ऑक्सीजन के …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *