Monday , 27 May 2019
Breaking News

स्वतंत्रता की ओर

स्वतन्त्रता की ओर ( Towards Independence )

अंग्रेजी सरकार समझ गई कि अब उसके लिए भारत में रहना कठिन है , इसलिए गवर्नर – जनरल लार्ट वेवल ( Lord Wavell ) ने सभी राजनीतिक पार्टियों से समझौता करने के लिए शिमला में एक कान्फ्रेंस बुलाई । इसमें मुस्लिम लीग ने पाकिस्तान लेने का हठ किया । इस कारण शिमला कान्फ्रेंस सफल न हो सकी । तब तक इंग्लैंड की सरकार में भी परिवर्तन आ गया । वहां श्री एटली ( Mr . Attlee ) की सरकार बन गई । यह दल भारत की स्वतन्त्रता का समर्थक था ; इसलिए उसने तीन सदस्यों पर आधारित कैबिनेट मिशन ( Cabinet Mission ) भारत में भेजा । इस मिशन के सदस्य स्टेफोर्ड क्रिप्स , पैथक लारैस और ए० बी० अलेग्जेंडर थे ।

इस मिशन ने भारत की भिन्न – भिन्न पाटियों से बातचीत की और अपनी रिपोर्ट में सरकार को यह मुख्य सुझाव दिए :-

  1. भारत में संघ सरकार ( Federal Government ) स्थापित की जाए ।
  2. भारत का नया संविधान बनाया जाए जिसको तैयार करने के लिए एक संविधान सभा ( Constituent Assembly ) बनाई जाए ।
  3. नया संविधान बनने तक केन्द्र में बड़ी पार्टियों की एक अन्तरिम सरकार ( Interim Government ) नियत कर दी जाए ।

जानिये आजाद हिन्द फौज की स्थापना के बारे में

जब जुलाई 1946 ई० में संविधान सभा का चुनाव हुआ तो 296 सीटों में से 211 कांग्रेस ने जीत लीं । मुस्लिम लीग इस सभा से अलग हो गई । उसने अपनी पाकिस्तान की मांग करनी शुरू कर दी । उन्होंने 16 अगस्त 1946 ई० को डायरेक्ट एक्शन डे ( Direct Action Day ) मनाया । इससे सारे देश में हिन्दू – मुस्लिम दंगे शुरू हो गए । बहुत खून खराबा हुआ । पशुता का नंगा नाच हुआ । धर्म के नाम पर कत्ल आम होने लगा , पर कांग्रेस फिर भी अपने निश्चयों से न हिली ।

उसने मुस्लिम लीग के बिना है अन्तिम सरकार बना ली । जवाहरलाल नेहरू प्रधानमन्त्री बने । यह बात मुस्लिम लीग को सहन न हो सकी । इसके प्रधान महम्मद अली जिन्नाह ने भी इसमें शामिल होना स्वीकार कर लिया , पर फिर भी कांग्रेस तथा मुस्लिम लीग के नेताओं में प्राय झड़पें होती रहती थीं । क्योंकि कांग्रेस का बहुमत था , इसलिए वह अपनी हर बात मनवा लेती थी । इससे दु : खी होकर मस्लिम लीग ने अपनी पाकिस्तान की मांग को और भी तेज़ कर दिया । इस प्रकार सारे देश में खून खराबे होने लगे ।

Check Also

जल के गुण

जल एक रसायनिक पदार्थ है जिसका रसायनिक सूत्र H2O है: जल के एक अणु में दो हाइड्रोजन के परमाणु सहसंयोजक बंध के द्वारा एक ऑक्सीजन के …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *