Wednesday , 24 July 2019
Home / सामान्य ज्ञान / हरियाणा की प्रमुख ऋतुएँ

हरियाणा की प्रमुख ऋतुएँ

हरियाणा की प्रमुख ऋतुएँ ( Major Seasons of Haryana )

हरियाणा राज्य की प्रमुख ऋतुएँ

हरियाणा में मुख्य तीन ऋतुएँ प्रमुख है जिनमें ग्रीष्म ऋतु , शीत ऋतु और वर्षा ऋतु प्रमुख है।

ग्रीष्म ऋतु
इसका समय ( सामान्यतः ) मध्य मार्च से जून अन्त तक होता है । इसका औसत तापमान 35° सेग्रे के आसपास रहता है । इसका अधिकतम तापमान मई – जून में 45° से 46° सेग्रे तक रहता है । इसकी मुख्य बिन्दु दक्षिण व दक्षिणी – पश्चिमी जिलों में लू नामक गर्म व शुष्क है हवाएं चलती हैं।ये हवाएँ उत्तर भारत में गर्मी के मौसम में निर्जलीकरण व बुखार जैसी बीमारियाँ पैदा करती हैं ।

शीत ऋतु
इसका समय ( सामान्यतः ) मध्य सितम्बर से मार्च तक होता है । इसका औसत तापमान 12° सेग्रे के आसपास रहता है । इसका न्यूनतम तापमान दिसम्बर व जनवरी में 3 – 4° सेग्रे तक रहता है । इसकी मुख्य बिन्दु उत्तरी शिवालिक क्षेत्र में शीतकाल में रात्रि का तापमान हिमांक बिन्दु तक पहुँच जाता है । दक्षिणी – पश्चिमी भाग में शुष्क शीत ऋतु पाई जाती है ।

वर्षा ऋतु
इसका समय ( सामान्यतः ) जुलाई प्रारम्भ से मध्य सितम्बर तक होता है । यहाँ की वार्षिक औसत वर्षा 30 सेमी ( 300 मिमी ) से 110 सेमी ( 1 , 100 मिमी ) के मध्य ( 70 सेमी ) रहती है । इसकी मुख्य बिन्दु भौगोलिक विविधता के कारण जहाँ हरियाणा के दक्षिणी – पश्चिमी राजस्थान के सीमावर्ती जिलों के कुछ भाग में 30 सेमी से भी कम वर्षा होती है । वहाँ शिवालिक क्षेत्र में वर्षा की मात्रा 110 सेमी तक हो जाती है। राज्य में वर्षा मुख्यतः बंगाल की खाड़ी से आने वाले दक्षिण – पश्चिमी मानसून से होती है ।

Check Also

कार्बन – डाइऑक्साइड

कार्बन – डाइऑक्साइड चक्र वायुमण्डल की ऑक्सीजन श्वसन , ईन्धन के जलने तथा किण्वन आदि …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *