Thursday , 23 May 2019
Breaking News
Home / कृषि विज्ञान / मूसला जड़

मूसला जड़

मूसला जड़ ( Tap Root )

मूसला जड़े वह जड़े हैं जो प्राथमिक जड़ ( Primary Root ) , उनकी सहायक जड़ो से बनती हैं । इस प्रकार की जड़े अधिकतर द्विवीजपत्री ( Dicotyledons ) पौधों में मिलती हैं ।

मूसला जड़ के विभिन्न प्रकार निम्नलिखित हैं :-

तर्कु रूप ( Fusiform )

मूसला जड़

जब मूसला जड़ बीच में मोटी और दोनों सिरों पर क्रमशः पतली हो जाती है और इस प्रकार तर्कु रूप धारण कर लेती है तो Fusifarm जड़ कहलाती है । इस प्रकार की जड़ मूली में पाई जाती है ।

जड़ क्या है ?

कुम्भी रूप ( Napiform )

जब मूसला जड़ का ऊपरी भाग फूलकर लगभग गोल हो जाता है और नीचे का भाग एकदम पतला हो जाता है तो यह कुम्भी रूप मूसला जड़ कहलाती है । इस प्रकार की जड़ शलजम तथा चुकन्दर में मिलती है ।

शंक्वाकार ( Conical ) << मूसला जड़

गाजर में इस प्रकार की जड़ पाई जाती है । यह ऊपर से मोटी तथा नीचे की तरफ धीरे – धीरे पतली होती हुई चली जाती है ।

इन तीनों प्रकार की जड़ों के ऊपरी भाग में एक बहुत छोटा अल्पाकृति तना होता है । इसी तने से पत्तियां निकलती हैं ।

Check Also

Types of Irrigation in India

भारत में सिंचाई के प्रकार

उपरोक्त स्रोतों से जो पानी मिलता है उसको खेत तक भिन्न – भिन्न ढंगों से …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *